Monday, May 28, 2007

महिला सशक्तीकरण अमेरिकन स्टाइल,...अमिताभ किसान





महिला सशक्तीकरण अमेरिकन स्टाइल, ..तो बड़े भईया किसान
आलोक पुराणिक
क्रियेटिव राइटिंग कंपटीशन में कुछ शब्दों के आशय जैसे बताये गये, वे पेश हैं-
महिला सशक्तीकरण
महिलाओं को सशक्तीकरण के अमेरिकी मतलब को हमें समझना चाहिए, क्योंकि जो अमेरिका में होता है, वह देर-सबेर पूरे विश्व में फालो किया जाता है। अमेरिका में महिला सशक्तीकरण के जिस स्वरुप पर आजकल बहस हो रही है, उसका चलन बिल क्लिंटन ने शुरु किया था। मोनिका लेवेंस्की को उन्होने व्हाइट हाऊस में बहुत पावरफुल, बहुत सशक्त बना दिया था। कुछ ऐसा ही काम हाल तक विश्व बैंक के प्रेजीडेंट रहे वोल्वोविट्ज कर रहे थे। एक महिला को विश्व बैंक में बहुत सशक्त बना दिया, इतना कि शक्ति संतुलन के लिए बैंक के मैनेजमेंट को वोल्वोविट्ज को अशक्त करना पड़ा। वैसे इस महिला सशक्तीकरण पर वोल्वोविट्ज का कहना है कि विश्व बैंक का काम है गरीबी दूर करना, वही वह कर रहे थे। सबसे पहले अपनी मित्र की गरीबी दूर करने के लिए उसे प्रमोशन दे रहे थे।
कुल मिलाकर हमें यही शिक्षा मिलती है कि इस तरह के महिला सशक्तीकरण के चक्कर में पड़ने वाले बहुत जल्दी किसी भी किस्म की शक्ति से वंचित हो जाते हैं।
किसान


किसान के कई तरह के अर्थ हैं। पुराने टाइप के किसान का अर्थ बलराज साहनी जैसी छवि वाला कोई इंसान होता था, जिसके पास दो बीघा जमीन होती थी। पर अमिताभ बच्चन नयी चाल के किसान हैं। जिन्हे यूपी में बाराबंकी से लेकर महाराष्ट्र में भी किसान माना जाता रहा है। अलबत्ता उगाने के नाम पर अमिताभजी ने पिछले कुछ सालों में सिर्फ सफेद दाढ़ी उगाई है, पर छोटे भईया अमर सिंहजी ने इसे ही खेती मानकर उन्हे यूपी में किसान घोषित करवा दिया। छोटा भाई मेहरबान, तो बड़ा भाई किसान। पर जैसा कि खबर कि अब सूखे के आसार हैं। किसान परेशान होंगे, अमिताभ बच्चन समेत। कुल मिलाकर इस कहानी से हमें यही शिक्षा मिलती है कि किसानी अपने बूते पर करनी चाहिए, छोटे भईया के बूते की किसानी मरवा देती है।




आलोक पुराणिक मोबाइल -9810018799

2 comments:

अरुण said...

आप ने किस किस महिला का सशक्तीकरण किया उसके बिना लेख अधूरा है यहा न बताये तो मेल करदे "सुरक्षा की पूर्ण गारंटी"जब तक कोई पैसा नही देगा बिलकुल नही बतायेगे,
और अमित जी अब अगर बहना से बात करले तो चाहे इलाहबाद का संगम या ताज महल जॊ चाहे हाजिर है"पुरखो की संमपत्ती साबित कर दिया जायेगा"

काकेश said...

आज आपने सही बात बतायी कि जब कोई किसी महिला को सशक्त कर देता है तो फिर खुद अशक्त हो जाता है या कर दिया जाता है...पी एम मनमोहन सिंह जी के अशक्तिकरण का यही राज है क्या ?? आज समझ आया !! :-) ... अपने एक्सपर्ट कोंमेंट दें ...आपकी अर्थ-अनर्थ बिरादरी के ही हैं ना वो....