Wednesday, August 22, 2007

कामरेड के किस्से

कामरेड के किस्से

किस्सा नंबर एक-शादी और प्यार
कामरेड नाराज थे, नान-कामरेड साथी को बोल दिया-अब हनीमून खत्म।
नान-कामरेड साथी का जवाब था-हू केयर्स, गेट लौस्ट।
कामरेड को इस जवाब की उम्मीद ना थी। कामरेड ने फिर वही किया, जो वह 77797979797 बार कर चुके थे।
कामरेड बोले-सो व्हाट, हनीमून खत्म होने से शादी तो खत्म नहीं होती। हम साथ रह सकते हैं। चलो चार-पांच महीने साथ रह सकते हैं। पर मैं अपने स्टैंड पर कायम हूं। हनीमून खत्म।
फिर कामरेड ने एक दिन फील किया कि पीछे से उन्हे एक जोरदार लात पड़ी है। शायद नान कामरेड साथी ने दी है ,जमा कर।
कामरेड नाराज हुए और बोले-मैं नाराज हूं। हनीमून खत्म।
नान कामरेड साथी ने कहा-अबे चिरकुट, हनीमून खत्म होने की बात तू सुबह से सातवीं बार बोल रहा है। कितनी बार हनीमून खत्म करेगा।
कामरेड ने कुछ कैलकुलेट करते हुए कहा-नहीं इस बार पक्का।
नान-कामरेड साथी ने मौज लेते हुए कहा-कामरेड हनीमून आप खत्म करने की बात कैसे कर सकते हो। आप तो बाहर से सपोर्ट देते रहे हो। कोई बाहर से ही हनीमून के लेवल पर कैसे पहुंच सकता है। अगर आप हनीमून की बात कर रहे हो, तो कबूल करो कि अंदर ही थे, और हनीमूनिंग कर रहे थे। पब्लिक को बताते रहे कि क्रांति कर रहे हैं, पर सच में हनीमून कर रहे थे।
कामरेड परेशान हो गये। पब्लिक जवाब मांगने लगी-कामरेड जब तुम बाहर थे, तो हनीमून कैसे कर रहे थे। इसका मतलब तुम बाहर दिखते थे, पर अंदर थे।
कामरेड परेशान हैं-हनीमून की बात मानें, तो अंदर साबित हो जायेंगे।
हनीमून की बात ना मानें, तो कैरेक्टर पर सवाल उठेंगे कि बाहर से कोई हनीमूनिंग कैसे कर सकता है।
कामरेड परेशान हैं, कैरेक्टर पर सवाल उठ रहे हैं।
आप बतायें कि कामरेड क्या करें।


खौं खौं हें हें
कामरेड परेशान हैं, आज कुछ बैलेंस खराब हो गया।
तय यह हुआ था कि नान कामरेड के सामने दिन में पचास बार हें हें करेंगे और पच्चीस बार खौं खौं करना है।
इस पर हें हें, उस पर खौं खौं।
बल्कि यह तक तय हो गया, कि खौं खौं हें हें हो पहले हो जायेगी। यह किसलिए हुई है, यह तय बाद में कर लेंगे।
रोज कामरेड नियम से इत्ती यूनिट हें हें और उत्ती यूनिट खौं खौं भिजवाते रहे।
रिसीव करने वाले उसे रद्दी की टोकरी में डालते रहे।
एक दिन कामरेड ने खौं खौं कुछ ज्यादा की।
जैसा कि होता था कि वह भी रद्दी में चली गयी।
कामरेड गुस्सा थे-इस बार मैं सीरियस हूं।
ओह, तो अब तक आप नान सीरियस थे क्या-नान कामरेड साथी ने पूछा।
नहीं इस बार सच्ची की खौं-खौं-कामरेड गुस्सा थे।
पर क्यों-नान कामरेड साथी ने पूछा।
कामरेड बोले-तुम्हारा चाल -चलन खराब है, अमेरिका से तुम्हारे रिश्ते हैं।
नान-कामरेड ने कहा-वो तुम्हे पहले क्यों नहीं दिखे। चाल- चलन तो हमारा हमेशा से ऐसा है। कामरेड बोले-जितना जब देखना अफोर्ड कर सकते हैं, उतना ही तो देखेंगे। अब तुम्हारी बदचलनी दिख रही है।
नान कामरेड साथी बोले-बदचलनी क्या है, इससे हमें क्या नुकसान हैं। इसकी स्टडी करने के लिए हम एक कमेटी बना देते हैं। जो रिपोर्ट दे देगी। बाद में देख लेंगे।
कामरेड जैसा कि अकसर होता है, इस बार भी राजी हो गये हैं।
पब्लिक मौज ले रही है कि कामरेड इत्ते भोले हैं कि बदचलनी अब तक देख ही ना पाये। कामरेड सचमुच बहुत भोले हैं।
खैर, कामरेड आदत के मुताबिक फिर खौं खौं कर रहे हैं, पब्लिक उसे हें हें समझकर हंस रही है।
कामरेड ने एक दिन आईने में देखा, तो डर गये। वह खुद को शेर समझकर दहाड़ते थे, पर उन्होने देखा कि जिसे वह दहाड़ समझते हैं, वह म्याऊं जैसा कुछ है।
कामरेड परेशान हैं, वह खौं खौं निकाल रहे हैं, पर हें हें ही निकल रही है।
कामरेड क्या करें, यह सोच रहे हैं।
सीनियर कामरेड ने बताया है कि कुछ ना करें, कमेटी की रिपोर्ट की प्रतीक्षा करें। कुछेक दिन में कोई नया घोटाला सामने आ जायेगा। संजय दत्त को मिली जमानत में पेंच हो जायेंगे। पब्लिक का ध्यान हट जायेगा। फिर आप खौं खौं करे, या म्याऊं, कोई फर्क नहीं पड़ता।
सो कामरेड अब प्रतीक्षा कर रहे हैं।

कामरेड के कनफ्यूजन
कामरेड से पूछा किसी ने-कामरेड, इस न्यूक्लियर डील के रुक जाने से पाकिस्तान खुश होगा। भाजपा वाले खुश होंगे, चीन वाले खुश होंगे और आप खुश होंगे। तो बताइए कि आपको पाकिस्तान के साथ माना जाये या भाजपा के साथ।
कामरेड ने थोड़ा कैलकुलेट करके बताया-देखिये भाजपा के साथ नहीं हैं हम। भाजपा वाले अलग हल्ला मचायेंगे, हम अलग। भाजपा वाले अगर हो हो करेंगे, तो हम हाय हाय करेंगे। मतलब वैसे हम भाजपा के साथ खड़े दिखते हैं, वैसे हम पाकिस्तान के साथ खड़े भी दिख सकते हैं, पर वैसे तो हम कांग्रेस के साथ भी खड़े दिखते हैं। मतलब हम कांग्रेस को बाहर से सपोर्ट देते हैं। मतलब यूं तो चीन को भी हम यहां बाहर से ही सपोर्ट देते हैं। मतलब हम किसके साथ हैं, यह अभी क्लियर नहीं है।
कामरेड अभी कनफ्यूज्ड हैं कि वह कहां है। आपको पता लग जाये,तो उन्हे बता दीजिये प्लीज।
आलोक पुराणिक
मोबाइल-9810018799

9 comments:

Udan Tashtari said...

खौं खौं हें हें

और तो क्या कहें आपको.

अनूप शुक्ला said...

कामरेड के कन्फ़्यूजन की मौज लेते हैं। ये अच्छी बात नहीं है!

Shrish said...

खौं खौं

- सुबह सुबह उलझन में डाल दिए।

हें हें।

- कामरेड का लाइफ साइकल मजेदार है। :)

Shiv Kumar Mishra said...

हें हें, खों ख़ों...

ये तो कामरेड का काम है और आप उनके काम पर रेड मार रहे हैं...वैसे इनकी हालत कहीं ‘हनीमून’ पर ले जाये गये उस प्लास्टिक के थैले जैसी नहीं हो जाये, जिसका काम खत्म होते ही हनीमून पर जानेवाला जोडा उसे शिमला की पहाडीयों पर फेंक आता है....

लेकिन प्लाटिक कभी खत्म नही होता, वातावरण को प्रदूषित करता रहता है...

Gyandutt Pandey said...

पुरणिक जी पोस्ट मस्त है. पर आज ज्यादा ह्यूमर झेल नहीं सकते. गरदन मे‍ दर्द बढ़ जायेगा!

कामरेड ने हनी तो खूब चाटा, मून गले मे‍ हड्डी की तरह अटक गया है!

Sanjeet Tripathi said...

हा हा मस्त है!!

Ashok Kaushik said...

आपने कभी कामरेड का संधि विच्छेद करके देखा है... नहीं ना। चलिये बताये देते हैं-- काम जमा रेड यानी वो साहब जो अच्छे भले काम की रेड मार दे (मट्टी पलीत कर दे)। कंफ्यूज कामरेड मतलब- मुकम्मल बंटाधार

skmeel said...

shreeman ji apki samjdari par taras ataa hai. fir bhi aapko m nasmajh nahi kahunga kyonki aap bhi ye to mante hai ki nuclear deal galt hai koi baat nahi ye chij aap jese nasamj ko comrado ne batai ............lekin ek baat to h comrade samrthan wapas lekar aap jese logon ka dil jalaaya uske liye Manmohan singh ki taraf se aapko ek mafinaama kal tak mil jayega.........tumare jese chamcho ki America or congress ko jarurat hai

skmeel said...

sahstri ji pandey ji sukla ji mishra ji tripathi ji kaushik ji aadi tamam tarah ke brahmanwadiyon ki jalan ko bhi samajh te hai.........................jalan par ek muthi third alternative ka NAMAk £$"%^&*()_+~